Why Modi is GOOD for India?

बिहार में जो भी हुआ, उससे मेरे मन में आपके लिए जो श्रद्धा है और उससे बड़ा जो विश्वास है वो कभी समाप्त नहीं होगा. पर आपको कुछ बातें याद दिलाना चाहूँगा…ये भारत देश है, जिसे बरसों से गुलामी ही पसंद है. अंग्रेज, मुग़ल, Portuguese सबकी गुलामी की…फिर आज़ाद हुए तो कांग्रेस की…

ये वो देश है जहाँ सिर्फ मुफ़्त में सब चाहिए बिजली, पानी.. सब्सिडी को यहाँ हक़ समझा जाता है.
ये इजराइल नहीं है जहाँ का PM भी अपने बेटे को Army में भेज देता है.
यहाँ तो सबको दूसरों से ही सब चाहिए. जैसे आपने 2 दिन ही झाड़ू लगायी ??? पूरा देश साफ़ करने की जिम्मेदारी सिर्फ आप ही की है.
आप क्यों भूटान और नेपाल गए, बिहार के लिए बिजली लेने ??? उन्हें तो लालू जैसा सिद्ध ईमानदार (???) ज्यादा प्रिय है
क्यों आपने छोटा राजन को पकड़ा ??? क्यों म्यांमार में घुसकर आतंकी मारे ???
क्यों दाऊद पर UAE में जाकर शिकंजा कसा ??? क्यों दाऊद की संपत्ति जब्त कराने की कोशिश की ???
क्यों भारतीय सेना को पाकिस्तान के गोली के बदले गोला चलाने का कहा ??? अरे आप भी तो सिर्फ़ “कड़ी निंदा” कर सकते थे ???

इस देश के मूरख नहीं समझेंगे कि आप सिर्फ़ गुजरात के CM होते हुए भी पूरी दुनिया घूम सकते थे पर इन्हें क्या पता कि FDI लाने के लिए और यूरेनियम और परमाणु ऊर्जा के लिए दूसरे देश जाना पड़ता है. इन्हें देश के सम्मान से क्या ??? अधिकतर भीखमंगे और लालची हैं जिन्हें सब सस्ता चाहिए. इन्हें आपके दान किए लाखों रूपये की कद्र नहीं, इन्हें तो आपका सुट दीखता है. भले वो भी आपने इन्हीं के लिए नीलाम क्यों ना कर दिया हो. इन्हें सरेआम न्यायपालिका द्वारा सिद्ध चोर लालू और महाचोर कांग्रेस पसंद है.

अच्छा होगा आप सिर्फ बचे खुचे साढ़े 3 साल मस्ती में निकालो. हम भी तैयारी करते हैं कहीं विदेश में settle होने की. कहाँ चले हो भला करने ???
Ex PM होकर भी सब सुविधाएँ आपको मिलना ही है भले आप जैसे फक्कड़ स्वयंसेवक को उसकी इच्छा ना हो. वो देखो पटेलों को पढ़ो उनके विचार. आरक्षण नहीं मिला तो आपको गालियाँ दे रहे हैं. जैसे आपने ही देश में आरक्षण की प्रथा शुरू की हो या अब आपके ही हाथ में आरक्षण बांटना हो ???
यहाँ तो सबको 2 मिनिट की मैगी जैसा चाहिए फटाफट. 12वीं में 3rd division पास गँवार पूछते हैं कि हमे सरकारी नौकरी क्यों नहीं दे रहे मोदीजी ???

अब क्या समझाएं उन्हें ???
Labour class लोगों ने घर में 4-5 औलादें पैदा कर रखी हैं, उन्हें पढ़ाना तो दूर खिलाने के लाले हैं पर दोषी जैसे आप हो. कश्मीर में पिछले साल भी बाढ़ आने पर आप दीपावली पर भी वहां गए. हज़ारों करोड रूपये भी दिए. ये जानते हुए भी कि वो कौम जी भरके आपको गालियाँ देती हैं पर आपने अपना फर्ज़ निभाया. अभी कल भी जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए 80 हज़ार करोड़ रूपये और दिए. पर आप फेंकू ही कहलाओगे ???

हद्द है ऐसी सोच की.
हाँ कुछ मुद्दों पर हमें भी आत्ममंथन करना जरुरी है. कुछ चूक हमारी भी है. जिसे स्वीकार करना होगा.
चलो छोड़ो क्या रखा है ???
बस एक वादा है, आपके साथ. निस्वार्थ…

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *